किसानो ने जिओ के डेड हज़ार से ऊपर टावर तोड़ डाले कप्तान अरमिंदर सिंह ने जारी की चेतावनी

0
173
जिओ के टावरों पे गुस्सा
जिओ के टावरों पे गुस्सा

किसानो ने कृषि कानून के विरोध में अब जिओ के टावरों पे गुस्सा उतरना स्टार्ट कर दिए है। पंजाब में किसानो ने जिओ के ९००० में से १५०० टावरों को बुरी तरह छतिग्रस्त कर दिए है जो की अब काम करना बंद कर चुके है। जिओ के एक कर्मचारी ने हमे फ़ोन पे बताया की कई जगह तोड़ फोड़ और कई तरह की छाती पहुंचने की कोसी की है कुछ जगहों में चोरी की भी कभार आ रही है यही तक की बुरी रहा जनरेटर हो भी छाती पहुचायी गयी। जिससे सेवा बुरी तरह प्रभावित हुयी है।

मुख्य मंत्री अरमिंदर सिंह घटना का संज्ञान लेते हुए दूरसंचार सेवाओं को बाधित करने और टावरों को तोड़े जाने की घटना का कड़ी चेतावनी देते हुए पुलिस को सख्त करवाई करने के लिए कहा है

कुछ दिनों से किसानो ने रेलिएन्स पर जमकर गुसा निकल रहे है। टावरों को तोडा जा रहे चोरी की की घटनाये और बिजली आपूर्ति को भी बंद किया जा रह। जलंदर में जिओ फाइबर की केवल के बंडल को बुरी तरह जलाया गया। किसान मुकेश अम्बानी के स्वामित्त वाली रेलिएन्स जिओ पर हर तरीके से अपना गुस्सा निकल रहे है और ऐसा इसलिए हो रहा है क्युकी लगू को कृषि कानून के मुख्या लाभारती के रूप में रेलिएन्स को देखा जा रहा है कुछ लोगो का तो ये भी कहना है ये कानून अम्बानी और अडानी को फायदा पहुंचने के लिए लाया है ।

हलकी मुकेश अम्बानी की रेलिएन्स और गौतम अडानी की कोई भी कंपनी अभी तक ऐसे किसी भी प्रकार के बिज़नेस में नहीं है जहा पे किसानो के अनाज खरीद का रिस्ता हो फिर भी ऐसे अफवाहे फैलाई जा रही है की ये किरिषि कानून सीधे तौर पर गौतम अडानी की अडानी ग्रुप और मुकेश अम्बानी की जिओ को फायदा पहुंचने के लिए लाया गया है

राज्य पुलिस ने अभी तक अप्राधिओं पर कोई कार्यवही नहीं की है मुख्य मंत्री अरमिंदर सिंह ने किसानो से शांति पूर्वक ढंग से हरताल की मांग की है और अनुरोध किया है की किसी भी प्रकार भी सार्वजनिक और निजी सम्पति को नुकसान न पहुचाये उन्होंने ये भी कहा है ऐसे घटना से बचे क्युकी ऐसे घटाएँ बर्दास्त नहीं किया जायेगा

Leave a Reply