नए साल का नया तोफा DCGI ने ऑक्सफ़ोर्ड की कवीसील्ड वैक्सीन को इमरजेंसी उपयोग को मंजूरी दी।

0
167

नए साल में भारतवासिओ को ऑक्सफ़ोर्ड की तरफ से बड़ा तोहफा मिला है सरकार की केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रक संगठन के विशेसग्यो की कमेटी ने आज यानि १ Janaury २०२१ कोरोना वैक्सीन कवीसील्ड को इमरजेंसी इस्तेमाल मंजूरी दे दी DCSCO से मंजूरी मिलाने के बाद अब इससे DCGI के पास मंजूरी के लिए भेजा जायेगा कवीसील्ड का भारत में प्रोडक्शन सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया कर रहा है सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया विश्व की सबसे बड़ी टिका निर्माताओं कोम्पनिओ में से एक है देश में वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद ये अनुमान लगाया जा रहा है की भारत सरकार ने जल्द से जल्द वैक्सीन के टीकाकरण को काम भी सुरु कर सकती है।
कोविद के नए स्ट्रेन के कहार के बिच २ तरीक को होने वाली सभी राज्यों में ड्राई रन के पहले कोरोना वैक्सीन के उपयोग एक्सपर्ट की एक अयं बैठक हो रही है देश में एमेर्जेंय वैक्सीन के उपयोग लिए ३ आवेदन आये थे इसमें भारत बायोटेक , पफिज़र, सीरम इंस्टीटुडे ऑफ़ इंडिया की कवीसील्ड थी अगर सुरछा के हिसाब से देख जाये तो कवीसील्ड का प्रदर्सन ज्यादा अच्छा रहा रहा है
सीरम इंस्टीटुडे ऑफ़ इंडिया ने ऑक्सफ़ोर्ड की कवीसील्ड को एमेर्जेंस उपयोग के लिए ५ दिसंबर को DCGI को आवेदन दिए था वही अगर बात करे हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक की तो बायोटेक ने ७ दिसंबर को आवेदन दिए था अगर हम बात करे pfizer वासिने की तो उन्होंने वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए ४ दिसंबर को किया था
सीरम इंस्टुटें के CEO के अनुसार अभी भी सीरम इंस्टीटुडे के पास ४- ५ करोड़ कवीसील्ड की खुराग मौजूद है उन्होने ने भी बातो बातो में उम्मीद जताई की साकार की तरफ से जल्द से जल्द कवीसील्ड वैक्सीन के एमेर्जेंय इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे देनी चाहिए और हमारे पास पहले से ही ४-५ करोड़ कवीसील्ड की खुरागे मौजूद है

Leave a Reply